नेट बैंकिंग क्या है आपके सवाल और जवाब ? : net banking kaise karte hain - net banking information in hindi

नेट बैंकिंग क्या है  आपके सवाल और जवाब ?  : net banking kaise kare ki jankari - net banking information in hindi

 

net banking information in hindi



     टॉपिक :

ü  net banking kya hai

ü  Internet Banking kya hai 

üNet banking kaise karte hai

ü  kya Internet Banking Netbaking hai ?

ü  net banking kaise kare

ü  Net Banking surakshit hai ya nahi ?

ü  kya Net Banking ke liye koi charge lagta hai

ü  sbi net banking charge free hai ?

ü  Net Banking ke madhyam se kitne paise transfer kar sakte hai

ü  Net Banking Eligibility kya hai

ü  Net Banking Kya Kya Services deti hai

ü  Internet banking ka istemal kab kar sakte hai

ü  IMPS mximum money transfer

ü  Net banking khud ka password

 

 

इन्टरनेट बैंकिंग क्या है ? (What is Internet Banking Vs net banking Vs online Banking   ?)

इन्टरनेट बैंकिंग को और भी बहुत से नामों से पुकारा/बोला जाता है जैसे net बैंकिंग, ऑनलाइन बैंकिंग, वेब बैंकिंग, इत्यादि जो की एक ऑनलाइन भुगतान( payment) सिस्टम(system) है जिसके माध्यम से electronically किसी अकेले (individual), कंपनी, कोई corporate के एक बैंक या कोई financial institutes से किसी दूसरे अकेले, कंपनी या कोई corporate, firm के बैंक खाते (bank account) में पैसे ट्रान्सफर करना या कोई ऑनलाइन transaction, payment(भुगतान) करना इन्टरनेट का इस्तेमाल करते हुए तो वह net बैंकिंग कहलाती है |


ü  बैंक से जुड़े बुनियादी (basic) काम जैसे किसी को पैसे ट्रान्सफर करना

ü  खाते (account) में पैसे जमा करना

ü  बिल का भुगतान करना

ü  बैंक खाते (bank account) में कितने पैसे शेष(balance) बचे हैं यह जानना

ü  कोई नई चेक बुक के लिए आवेदन (application) करना

ü  आदि मतलब जितने भी मूलभूत (basic)काम आप अपने बैंक के ब्रांच में जाकर करते हो वही सब काम आप ऑनलाइन इन्टरनेट बैंकिंग के माध्यम से भी कर सकते हो |

 

इन्टरनेट बैंकिंग को इस्तेमाल करने के लिए किसी भी व्यक्ति(any individual) का कोई भी बैंक में एक खाता (account) होना ज़रूरी है, इसके बाद आपको net बैंकिंग के लिए पंजीकृत(registered) करना होता है यानी की आपको net बैंकिंग के लिए एक अकाउंट बनाना है | net बैंकिंग पर अकाउंट बनाने के लिए आपके पास दो विकल्प(option) है पहला कि आप बैंक ब्रांच जाकर net बैंकिंग का फॉर्म भरकर और फिर उस फॉर्म को बैंक अधिकारी को जमा करना होता है, फिर बैंक आपकी सारी विवरण (details) का सत्यापन (verification)  करेगा, सफलतापूर्वक सत्यापन होने के बाद बैंक द्वारा आपको एक यूजर id और पासवर्ड प्राप्त हो जाएगा जिसके माध्यम से आप इन्टरनेट बैंकिंग का इस्तेमाल कर सकते हो, तो इस तरह आप बैंक के द्वारा अपना net बैंकिंग का अकाउंट बनवा सकते हो और उसे इस्तेमाल कर सकते हो |


और दूसरा तरीके में आप ऑनलाइन ही net बैंकिंग के लिए पंजीकृत कर सकते हो बिना कोई बैंक ब्रांच जाए | ऑनलाइन में आपको बैंक्स की official websites पर आसानी से net बैंकिंग के लिए नया अकाउंट खोलने या बनाने का option मिल जाता है| जिसकी मदद से आप net बैंकिंग के लिए पंजीकृत कर सकते हो और सफलतापूर्वक (successfully) अकाउंट बनने पर उसे इस्तेमाल कर सकते हो|ऑनलाइन सफलतापूर्वक पंजीकृत (registration) करने के बाद आपको एक यूजर id और पासवर्ड मिलता है जिसकी मदद से आप net बैंकिंग के पोर्टल, websites पर लोग इन कर सकते हो | ऑनलाइन बैंकिंग की सेवाएं आप घर, दफ्तर (office) कहीं से भी इस्तेमाल कर सकते हो, फिर आपको बैंक्स के छोटे-मोटे कामों के लिए बैंक ब्रांच जाकर लम्बी-लम्बी लाइन में खड़े होने की ज़रूरत नहीं है| | net बैंकिंग एक बहुत ही सुविधा जनक सेवा(service) है और सुविधा जनक के साथ-साथ अत्यधिक सुरक्षित तरीका भी है ऑनलाइन transactions करने के लिए|

 

क्या Net बैंकिंग सुरक्षित है या नहीं ?

इन्टरनेट बैंकिंग एक बहुत ही अत्यधिक सुरक्षित सेवा(service) है ऑनलाइन transactions करने के लिए, इन्टरनेट बैंकिंग के लिए SSL/128 बिट एन्क्रिप्शन (encryption) security का इस्तेमाल किया जाता है जिसका मतलब की 2 की पॉवर 128 है यानी अगर आप 2 की पॉवर 128 बार का समाधान (solve) करेंगे तो संख्या के अंक (नंबर)ट्रिलियन (trillions) तक जाएँगे जो की इन्टरनेट बैंकिंग को खोलने के लिए एक तरह से बहुत सारी चाबियों (keys) का काम करेंगी और उन सभी ट्रिलियन चाबियों में से सिर्फ कोई एक ही अंक या चाबी (key) लॉक (lock) खोलने (open) में सक्षम है| प्रौद्योगिकी (technology) के इस खेल में 128 बिट encryption पूरी तरह अत्यधिक सुरक्षित है | तो इस गणित से आप अंदाजा लगा सकते हो की security के मामले में ऑनलाइन की चीजें कितनी सुरक्षित है| लेकिन बहुत से मामलों (cases) में हम 100% प्रतिशत यह नहीं कह सकते की इन्टरनेट बैंकिंग सुरक्षित जरिया है आपके फंड्स ट्रान्सफर करने के लिए या कोई ऑनलाइन भुगतान (payments), transactions करने के लिए और खतरा तो हर छोटी-छोटी चीजों में भी बना रहता है| क्योंकि जब सुरक्षा (security) की बात आती है तो तमाम चीजें मायने रखती है| और बहुत-सी चीजें ऑनलाइन बैंकिंग के लिए बाधा बन सकती है जैसे की नीचे दी गई बातों पर ध्यान दीजिए


§  आपके घर पर इन्टरनेट की स्थिरता

§  जहाँ आप रहते हो वहाँ, इन्टरनेट कितना तेज़ी से चलता है (internet speed )

§  अगर आप इन्टरनेट अभिगम (access) करने के लिए Wi-Fi का इस्तेमाल करते हो तो यह मायने रखता है की आपने कौन सा कंपनी का ब्रॉडबैंड लगवाया हुआ है उसके द्वारा net की कितनी स्पीड आती है, प्लान कौन सा चुना हुआ है, राऊटर (router), मोडम(modem) किस कंपनी का है ....और भी कई बातें

§  आपके घर पर पॉवर की स्थिरता

§  आपका लैपटॉप या कंप्यूटर कितना सक्षम / काबिल है

§  वायरस आक्रमण (virus attack) का खतरा हमेशा बना रहता है तो इसके लिए आपका लैपटॉप /कंप्यूटर कितना सुरक्षित है

§  सॉफ्टवेयर(software) में गड़बड़ी आ जाना

§  हार्डवेयर (hardware) में गड़बड़ी आ जाना

§  प्राकृतिक समस्या (natural trouble)

§  हैकर (hackers) का तो सबसे ज्यादा खतरा रहता है

§  हम कई बार कैशबैक के लालच में आकर ऑनलाइन धोखाधड़ी (online fraud) के शिकार बन जाते हैं

§  बहुत बार बैंक की तरफ से भी दिक्कत आ जाती है जैसे बैंक का सर्वर (server) डाउन हो जाना, websites नहीं चलना / खुलना(open), आदि

§  अंजान स्रोत (unknown source) के माध्यम से net बैंकिंग की websites/पोर्टल पर लॉग इन करना

§  और भी कई सारी परेशानियाँ होती है (other problems)

 

कुछ आधारभूत (basic) चीजों को ध्यान में रखते हुए आप ऑनलाइन बैंकिंग का सुरक्षित तरीके से इस्तेमाल कर सकते हो जैसे की नीचे दिए गए कुछ बिन्दुओं पर गौर कीजिए


Ø  ऊपर जितने भी अंक (points) आपने जाने उन सभी को मद्देनज़र रखते हुए सही करें, ध्यान रखें की कोई चीज़ की कमी तो नहीं है

Ø  ध्यान रखें कि आपके ब्राउज़र एड्रेस (browser address) का URL हमेशा httpsसे शुरू हो जिसका मतलब है कि आप एक सुरक्षित (secure) वेबसाइट खोल (open) कर रहें हैं

Ø  जिस भी वेबसाइट पर आप visit(विजिट) कर रहें हो तो यह ध्यान रखें कि इन्टरनेट बार (internet bar) में उस वेब पेज की शुरुआत पेडलॉक सिंबल (padlock symbol) –“https:// से हो | जिससे यह पुष्टि(confirm) हो जाती है की आप एक सुरक्षित (secure) वेब पेज पर visit कर रहें हो

Ø  कभी भी अपने id और पासवर्ड(password) को किसी के भी साथ साझा न करें |

Ø  एक मजबूत पासवर्ड (strong password) बनाए

Ø  अपने पासवर्ड(password) को समय समय पर बदलते रहें

Ø  कभी भी किसी अंजन लिंक address पर क्लिक न करें

Ø  ऑनलाइन धोखेबाजों (online fraud ant) से बचकर, सावधान रहें

Ø  हमेशा अपने browser बार एड्रेस में ही लिखें

Ø  जितना हो सके उतना cyber cafe का ऑनलाइन transactions करने के लिए इस्तेमाल से बचें

 


क्या net बैंकिंग और इन्टरनेट बैंकिंग एक ही चीज़ हैं ?

हाँ, net बैंकिंग और इन्टरनेट बैंकिंग एक ही चीज़ है | net बैंकिंग को और भी कई सारे नाम है जैसे ऑनलाइन बैंकिंग, वेब बैंकिंग, होम बैंकिंग आदि |

 


Net बैंकिंग के लिए क्या कोई मूल्य (charge) लगता है ?

हाँ, net बैंकिंग को इस्तेमाल करने के लिए आपको कुछ मामूली से मूल्य का भुगतान करना पड़ता है और यह मूल्य बैंक टू बैंक पर भी निर्भर करता है की वह net बैंकिंग के द्वारा की गई transactions पर कितना मूल्य (charge) वसूलते हैं |

 


क्या इन्टरनेट बैंकिंग SBI में निशुल्क (free) है ?

बहुत से ऐसे ऑनलाइन transactions हैं जो net बैंकिंग के द्वारा किए जाते हैं, जिनपर SBI कोई शुल्क नहीं लेता | लेकिन कुछ transactions ऐसी भी है जिनपर SBI (state bank of India) मूल्य (charge) वसूलता है | मूल्य (charge) transactions पर निर्भर करता है की आप किस तरह की transactions कर रहे हो और कितने पैसे / फंड्स ऑनलाइन ट्रान्सफर कर रहे हो |

 


Net बैंकिंग के माध्यम से आप कितने पैसे ट्रान्सफर कर सकते हो ?

net banking transaction limit की बात करे तो RBI के दिशानिर्देशों के मुताबिक आप NEFT और RTGS जैसी ऑनलाइन net बैंकिंग सेवाओं की मदद से कितना भी पैसा एक बैंक से किसी दूसरे बैंक में ट्रान्सफर कर सकते हो | लेकिन बहुत से बैंकों ने फंड्स ट्रान्सफर करने के लिए एक सीमा (limit) सेट कर रखी है, उस limit के बाद आप पैसे ट्रान्सफर नहीं कर सकते | सीमा लगाने के पीछे भी कारण है ताकि गलती से कोई गलत transaction न कर पाए और धोखाधड़ी (fraud) से भी बचने के लिए|

 


Net बैंकिंग के लिए क्या योग्यता (eligibility) होनी चाहिए ?

Net बैंकिंग इस्तेमाल करने के लिए आपको कोई विशिष्ट(specific) योग्यता नहीं चाहिए, ऑनलाइन बैंकिंग को कोई भी व्यक्ति एक अकाउंट बनाकर इस्तेमाल कर सकता है| लेकिन कुछ ज़रूरी बातें हैं जिनके बिना आप net बैंकिंग का लाभ नहीं उठा सकते | अगर आपको इन्टरनेट बैंकिंग का इस्तेमाल करना है तो आपके पास कुछ चीजें अनिवार्य (mandatory) होनी ही चाहिए | नीचे दिए गई वह चीज़ें-

1.      आपके पास एक बैंक खाता (bank account) होना चाहिए

2.      आपके पास एक ATM कार्ड (Automated Teller Machine) होना चाहिए| यदि आपके पास ATM कार्ड नहीं है तो आपको फिर अपने बैंक ब्रांच जाकर net बैंकिंग के लिए आवेदन करना होगा|

3.      आपका जो भी मोबाइल नंबर है वह आपके बैंक खाते (bank account) से जुड़ा (link) होना चाहिए

4.      और आपका जिस भी बैंक में अकाउंट है, तो यह आपको पता करना होगा की आपका बैंक net बैंकिंग की सुविधा(facility) मुहैया(provide) कराता है या नहीं | वैसे लगभग सभी बैंक net बैंकिंग जैसी सुविधा प्रदान करते हैं|

 


ये भी पढ़े >> बिना सिम के नेट चालू कैसे करें ?


इन्टरनेट बैंकिंग के द्वारा आपको क्या-क्या सेवाएं मिलती है?

इन्टरनेट बैंकिंग के द्वारा आपको बहुत सी मूलभूत(basic) सेवाएं(services) मिलती है जैसे खाते(account) में बचे(balance) हुए पैसे की जाँच(check) करना, अपने transactions का इतिहास(history) देखना, रोजमर्रा की जिंदगी में आने वाले उपयोगिता बिल्स (utilitybills) का भुगतान करना, ऑनलाइन पैसे ट्रान्सफर करना इत्यादि |

 


मैं इन्टरनेट बैंकिंग का इस्तेमाल कब कर सकता हूँ ?

आप इन्टरनेट बैंकिंग का इस्तेमाल दिन के पूरे 24 घंटे, हफ़्तों के सातों दिन और साल के 365 दिन कर सकते हो | यह एक पूरी तरह से ऑनलाइन सेवा (service) है, जिसका आप अपने घर, दफ्तर, कहीं से भी,कभी भी इस्तेमाल कर सकते हो|

 


NEFT, RTGS, IMPS, IFSC, ECS e-Banking की full फॉर्म क्या है ?

1.      NEFT का फुल फॉर्म - National Electronic Funds Transfer (नेशनल इलेक्ट्रॉनिक फंड्स ट्रान्सफर)

2.      RTGS का फुल फॉर्म - Real Time Gross Settlement (रियल टाइम ग्रॉस सेटलमेंट)

3.      IMPS का फुल फॉर्म – Immediate Payment Service (इमीडियेट पेमेंट सर्विस)

4.      IFSC का फुल फॉर्म - Indian Financial System Code (इंडियन फाइनेंसियल सिस्टम कोड)

5.      ECS का फुल फॉर्म - Electronic Clearing Service(इलेक्ट्रॉनिक क्लीयरिंग सर्विस)

6.      e-Banking का फुल फॉर्म - Electronic Banking (इलेक्ट्रॉनिक बैंकिंग)

 

 

इन्टरनेट बैंकिंग के बारे खास बात क्या है ?

Net बैंकिंग के बारे सबसे खास बात यही है की आपको आधारभूत (basic transactions) सेवाओं के लिए अपने बैंक ब्रांच जाने की ज़रूरत नहीं | इन्टरनेट का इस्तेमाल करते हुए आप netबैंकिंग के माध्यम से, अपने सुविधा के अनुसार (convenience) घर से भी बहुत सारी ऑनलाइन transactions को अंजाम दे सकते हो | पैसे ट्रान्सफर करने से लेकर अपने बैंक बैलेंस(balance) तक, आप इन्टरनेट बैंकिंग की मदद से ऑनलाइन ही सब कुछ कर सकते हो |


मैं इन्टरनेट बैंकिंग का इस्तेमाल करते हुए IMPS के माध्यम से ज्यादा से ज्यादा(maximum amount) कितने पैसे ट्रान्सफर कर सकता हूँ ?

IMPS के द्वारा प्रति लेन-देन(per transaction) में आप ज्यादा से ज्यादा 2 लाख ट्रान्सफर कर सकते हो | और रही बात एक दिन में कितना पैसे IMPS के माध्यम से ट्रान्सफर किए जा सकते हैं तो यह अलग-अलग बैंकों पर निर्भर करता है कि वह आपको(उपभोक्ता) एक दिन में कितने पैसे ट्रान्सफर करने के लिए अनुमति(allow) देता है |

 

क्या मैं अपना कोई खुद का पास-वर्ड(password) बना सकता हूँ जो मुझे आसानी से याद रहे ?

जी हाँ, आप अपने मन पसंद का कोई भी पासवर्ड बना सकते हो जो आपको अपने मुताबिक आसानी से याद रह सकता है | बैंक द्वारा मिले id और पासवर्ड को जब आप पहली बार इन्टरनेट बैंकिंग की वेबसाइट या पोर्टल पर लॉग इन करोगे तो उस समय आप अपने मुताबिक कोई नया पासवर्ड बना या बदल सकते हो |

 

 


एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.