Car insurance me add on kya hota hai : कार ऐड-ऑन इंश्योरेंस क्या होता है ? – Add on engine protection, roadside assistant, passenger ,tyre protection cover in hindi

 कार इंश्योरेंस में ऐड-ऑन क्या होता है ? – Car insurance me add on kya hota hai in hindi

 

car add on insurance kya hota hai
car add on insurance kya hota hai

आज हम जानेंगे कार इंश्योरेंस में ऐड ऑन क्या होता है ? ( car add on insurance kya hota hai ) , कार बीमा में ऐड-ऑन कवर की सूची ( Car Insurance Add on cover kya hota hai ), जीरो डेप्रिसिएशन (zero depreciation kya hota hai ), इंजन सुरक्षा कवर ऐड-ऑन (engine protection cover add-on kya hota hai ), रोडसाइड असिस्टेंस कवर (roadside assistance cover kya hota hai ) , एन सी बी - नो क्लेम बोनस ऐड-ऑन कवर (NCB-No Claim Bonus kya hota hai ), यात्री कवर ऐड-ऑन ( passenger cover add-on kya hota hai ) , कन्ज्यूमेबल कवर (consumables cover kya hota hai ) , टायर सुरक्षा कवर ( tyre protection cover kya hota hai ) , चाबियाँ का नुकसान या प्रतिस्थापन कवर (keys replacement cover kya hota hai ) , व्यक्तिगत सामान की हानि ऐड-ऑन कवर ( loss of personal belongings add-on cover kya hota hai ) और भी कई जानकारियां |

 

कार बीमा में ऐड-ऑन (Add-on) क्या होता है ?

Car Add on Insurance kya hota hai : आपकी मूल कॉम्प्रेहेंसिव कार बीमा में सभी चीजों को कवर नहीं किया जाता है वाहन के कुछ ऐसे पार्ट्स तथा हिस्से होते हैं जिनको कॉम्प्रेहेंसिव पॉलिसी के साथ कवर नहीं किया जाता , आपको अपनी ज़रूरतों के मुताबिक पॉलिसी में कुछ रूपांतरित (modify) करना होता है | यह आपको देखना होता है की आपको अपनी वाहन के लिए कितना कवरेज चाहिए, जिससे आपकी कार और सुरक्षित हो सके और यह सब आप ऐड-ऑन की मदद से कर सकते हैं |

 

दुर्भाग्यपूर्ण किसी दुर्घटना में अगर आपकी कार क्षतिग्रस्त हो जाती है तो थर्ड-पार्टी पॉलिसी के अंतर्गत आपकी कार को कवर नहीं किया जाता है | और अगर आपने अपनी कार के लिए  कॉम्प्रेहेंसिव पॉलिसी (comprehensive policy) खरीद रखी है तो यहाँ पर आपको थर्ड-पार्टी के कवर के साथ-साथ आपकी कार के हुए नुकसान को भी कवर किया जाएगा लेकिन कुछ देनदारियां (liabilities) ऐसी हैं जो की कॉम्प्रेहेंसिव पॉलिसी प्लान के साथ भी छूट जाती हैं, उदाहरण के लिए विमूल्यन दाम (डेप्रिसिएशन कोस्ट) (depreciation cost) , इंजन का ख़राब होना (engine damage), कार की चाबियाँ गुम हो जाना (keys lost), बीच सड़क पर अगर आपकी कार ख़राब हो जाए, इत्यादि |

तो यहाँ पर जब आपको अपनी कार की मूलभूत पॉलिसी प्लान (basic policy plan) में कुछ अतिरिक्त चीजों को जोड़ना होता है या अतिरिक्त कवरेज चाहिए होता है तो यह सब आप ऐड-ऑन की मदद से करवा सकते हैं |

 

तो, कार बीमा में ऐड-ऑन की परिभाषा यह होती है की ऐड-ऑन एक प्रकार का अतिरिक्त कवरेज होता है जो की कार मालिक आपनी मूलभूत पॉलिसी के साथ इनको खरीद सकता है जिससे उसकी कार की बीमा कवरेज को और भी ज़्यादा सुरक्षा और मजबूती मिल सके | अतिरिक्त कवरेज की मदद से आप आपने कार के लिए एक वित्तीय सुरक्षा भी प्रदान करते हो | लेकिन इन अतिरिक्त कवर्स के लिए आपको अलग से भुगतान भी करना होता है यानि की आपको यह ऐड-ऑन अपनी पॉलिसी के साथ खरीदने होते हैं |


कार बीमा में ऐड-ऑन कवर की सूची ( Car Insurance Add on cover kya hota hai ) -

सही प्रकार के ऐड-ऑन का अपनी कार बीमा के लिए चयन करना आपके बहुत से पैसों की बचत कर सकता है | तो यहाँ निम्नलिखित ऐड-ऑन का आप अपने मुताबिक चयन करके आपनी कार बीमा कवरेज को और बढ़ा सकते हैं |

 

शून्य विमूल्यन (जीरो डेप्रिसिएशन) [zero depreciation in hindi ] -

Zero Depreciation Kya hota hai : समय के साथ और वाहन का इस्तेमाल के साथ वाहन में कुछ न कुछ टूट-फूट होते रहते हैं | वाहन के इन्हीं भागों के घिसावट को डेप्रिसिएशन कहा जाता है, यानि की वाहन का विमूल्यन होना | और यह ज़्यादातर देखा गया है की किसी दुर्घटना के बाद क्षतिग्रस्त हुए कार का जो डेप्रिसिएशन मूल्य होता है वह कार मालिक द्वारा ही भुगतान किया जाता है या इन्सुरांस पॉलिसी खरीदते वक़्त उसमें से डेप्रिसिएशन मूल्य को घटा दिया जाता है | अगर आप चाहते हैं की यह डेप्रिसिएशन मूल्य भी बीमाकर्ता द्वारा भुगतान किया जाए तो आपको आपनी कार बीमा के अंतर्गत निल (nil) या जीरो डेप्रिसिएशन ऐड-ऑन को अलग खरीदना होगा |

 

जीरो डेप्रिसिएशन ऐड-ऑन के अंतर्गत, वाहन के रबर, प्लास्टिक और फाइबर जैसे चीजों से बने हिस्सों की मरम्मत तथा प्रतिस्थापन लागत या मूल्य (replacement cost) को कवर किया जाता है | इस प्रकार के अतिरिक्त कवरेज की मदद से कार मालिक को डेप्रिसिएशन मूल्य का बोझ नहीं होता है और साथ ही में क्लेम के वक़्त डेप्रिसिएशन को नहीं माना जाता है | जीरो डेप्रिसिएशन को निल डेप्रिसिएशन और बम्पर-टू-बम्पर कार बीमा भी कहा जाता है और यह अतिरिक्त कवर ज़्यादातर 5 वर्ष से कम उम्र की वाहनों के लिए होता है |  

 

इंजन सुरक्षा कवर ऐड-ऑन (engine protection cover add-on in hindi ) -

engine protection cover add-on kya hota hai : जिस प्रकार मनुष्य का दिल ही उसे जीवीत रखता है ठीक उसी प्रकार कार का इंजन उसेक दिल के सामान होता है, जहाँ कार का इंजन काम करना बंद कर देता है या ठप हो जाता है तो यह किसी के लिए भी बहुत ही परेशानी वाली बात हो सकती है, और जहाँ आपने अपनी कार के इंजन के प्रति थोड़ी-सी भी लापरवाही बरती तो यह आपके लिए और भी गंभीर समस्या उत्पन्न कर सकता है | किसी आम कार बीमा में या कॉम्प्रेहेंसिव पॉलिसी के अंतर्गत, गैर-दुर्घटना (non-accident) के कारणवश अगर कार के इंजन को किसी प्रकार का क्षति पहुँचती है तो वह इसमें कवर नहीं किया जाता है |

इंजन में पानी के प्रवेश या तेल/स्नेहक (oil/lubricants) के रिसाव के कारण हुए इंजन के नुकसान और गियर-बॉक्स, हीड्रास्टाटिक लॉक (hydrostatic lock) आदि नुकसानों को इंजन प्रोटेक्शन ऐड-ऑन की मदद से कवर किया जा सकता है | और अगर कार के  इंजन को किसी प्रकार की हानि पहुँचती है जिसके कारण इंजन या इंजन के किसी हिस्से को बदलना पड़ जाए या इंजन की मरम्मत (repairment) करनी पड़ जाए तो इन सभी का खर्चा आपके लिए मुश्किल पैदा कर सकता है |

तो इसलिए अगर आपके पास इंजन की सुरक्षा के लिए अतिरिक्त (ऐड-ऑन) कवर है तो आपके लिए एक राहत की बात हो सकती है क्योंकि आपका कार बीमा प्रदाता ही इंजन को पूर्ण सुरक्षा प्रदान करता है | तो इंजन प्रोटेक्शन ऐड-ऑन कवर आपके कार के इंजन के लिए एक महत्वपूर्ण अतिरिक्त कवरेज के तौर पर साबित हो सकता है |


रोडसाइड असिस्टेंस कवर (roadside assistance cover in hindi ) -

Roadside assistant cover kya hota hai : हम यह सभी जानते हैं की कार, आखिरकार है तो एक प्रकार की मशीन ही, जो आपको बिना किसी प्रकार की चेतावनी देते हुए कभी-भी काम करना बंद कर सकती है, चाहे सब कुछ ठीक ही क्यों न हो लेकिन कभी-कभी सब कुछ ठीक होने के बावजूद भी मशीने काम करना बंद कर देते है या ख़राब हो जाती है

अगर आपकी कार सड़क किनारे या सड़क के बेचो-बीच ख़राब हो जाए या कहीं हाईवे पर या कहीं सुनसान क्षेत्र (remote area) या किसी ग्रामीण क्षेत्र में यात्रा करते वक़्त अचानक से आपकी कार काम करना बंद करदे तो ऐसे प्रकार के क्षेत्र में आस-पास किसी कार मैकेनिक (mechanic) को खोजना आपके लिए एक चुनौती पूर्वक काम हो सकता है | वाहन ख़राब होने की ऐसी ही किसी आपात जैसी स्थिति में यह रोडसाइड असिस्टेंस ऐड-ऑन कवर, आपके लिए काम का साबित हो सकता है |

इस प्रकार का ऐड-ऑन आपकी कार सड़क के बीचो-बीच ख़राब होने के प्रति सहायता प्रदान करता है | उसके लिए बस आपको बीमा कंपनी को संपर्क करके अपनी कार के ख़राब होने के बारे में सूचित करना है ताकि बीमा कंपनी आपके लिए मकैनिक की व्यवस्था कर सके और आपको सहायता प्रदान की जा सके

कुछ प्रकार के सहायता जो ऐड-ऑन में कवर किए जाते हैं जैसे की कार की कोई छोटी-मोटी मरम्मत करना, ख़राब टायर को बदलना, गाड़ी को टो (tow) करना यानि टोइंग वाहन (towing vehicle) के द्वारा आपकी कार को रस्सी या तार की मदद से खींचना, या कार की बैटरी को एक झटके/स्पार्क (spark) की मदद से शुरू करना, कार के लिए ईंधन वितरण करना (fuel delivery), कार मालिक के लिए टैक्सी का प्रबंध (arrangement) करना, इत्यादि प्रकार की सभी सेवाएँ आपको रोडसाइड असिस्टेंस ऐड-ऑन कवर में प्रदान की जाती है | 

 

एन सी बी - नो क्लेम बोनस ऐड-ऑन कवर (NCB-No Claim Bonus in hindi ) –

NCB Kya hota hai : बीमाधारक के लिए कार बीमा में नो क्लेम बोनस लाभदायक साबित हो सकता है | नो क्लेम बोनस, कार इन्सुरांस के प्रीमियम में एक प्रकार की छूट होती है या कह सकते हैं की एक प्रकार का इनाम होता है जो की आपको आपकी इन्सुरांस बीमा में प्रदान किया जाता है अगर आप बीमा पॉलिसी के अवधि के दौरान एक भी क्लेम नहीं करते हो | इसलिए इसका नाम नो क्लेम बोनस पुकारा जाता है क्योंकि आपको इसमें एक भी क्लेम नहीं करना होता है

नो क्लेम बोनस में आप कम से कम 20% और ज़्यादा से ज़्यादा 50% तक का बोनस या छूट प्राप्त कर सकते हो जिसकी अवधि 5 वर्षो के लिए होती है | मतलब की पहले वर्ष की पॉलिसी में कोई भी दावा न करें पर आपको दूसरे वर्ष की बीमा पॉलिसी में 20% तक की छूट प्रदान की जाएगी और इसी प्रकार अधिकतम आप 5 वर्षो के लिए 50% तक की छूट प्राप्त कर सकते हैं, लेकिन अगर आपके के द्वारा जिस क्षण कार बीमा क्लेम / दावा दायर किया जाता है तो आपकी कार का नो क्लेम बोनस शून्य पर पुनर्स्थापित हो जाएगा फिर चाहे आपके द्वारा किया गया दावा छोटा हो या बड़ा | तो इसी चीज़ से बचने के लिए नो क्लेम बोनस ऐड-ऑन कवर है |

नो क्लेम बोनस ऐड-ऑन कवर आपके NCB को सुरक्षा प्रदान करता है यानि की अगर आपके द्वारा पॉलिसी के अवधि के दौरान किसी प्रकार का क्लेम किया जाता है तो इससे आपकी वाहन का नो क्लेम बोनस या NCB प्रभावित नहीं होता है और NCB अखंड रहता है मतलब की नो क्लेम बोनस पर कोई फर्क नहीं पड़ता, वह जैसे था वैसे ही रहता है | नो क्लेम बोनस की मदद से आप NCB को शून्य होने से सुरक्षित कर सकते हैं |

 

यात्री कवर ऐड-ऑन (passenger cover add-on in hindi ) -

Passanger Cover Add-on kya hota hai : अनहोनी किसी के साथ भी हो सकती है, सड़क पर कार चलाते वक़्त हमें नहीं पता होता की कब कोई किसी दुर्घटना का शिकार हो जाए, कार चालक के साथ-साथ सहयात्री दुर्घटना के शिकार हो जाती हैं | दुर्भाग्यपूर्ण अगर आपकी का ऐक्सिडेंट हो जाता है तो, न सिर्फ आपकी कार को क्षतिग्रस्त होगी बल्कि साथ में कार चालक तथा बाकी यात्रियों को हानि पहुँचेगी, हो सकता है कार में आपके अपने प्यारे हो, घर का कोई सदस्य हो, या कोई आपका मित्र, आदि जन हो सकते हैं | लेकिन दुर्भाग्य से कार बीमा के अंतर्गत पर्सनल ऐक्सिडेंट को कवर किया जाता है और यात्री के लिए किसी भी प्रकार का कवर नहीं होता है | तो इसलिए यहाँ पर यात्री कवर ऐड-ऑन की बात आती है |

पैसेंजर या यात्री कवर एक प्रकार का ऐड-ऑन होता है जो की वाहन मालिक को आपनी कार बीमा के साथ खरीदना होता है | इस ऐड-ऑन में किसी ऐक्सिडेंट की वजह से बीमित कार के यात्री के मेडिकल खर्चों को कवर किया जाता है जैसे की अस्पताल के खर्चे, इलाज का खर्चा आदि चिकत्सा खर्चों को यात्री कवर ऐड-ऑन के अंतर्गत कवरेज प्रदान की जाती है | और तो और अगर एक्सीडेंट के कारण हुई पैसेंजर यात्री की मृत्यु तथा विकलांगता को  भी कवर किया जाता है और मुआवजा भी प्रदान किया जाता है | 

 

कन्ज्यूमेबल कवर (consumables cover in hindi ) -

Consumable Cover kya hota hai : जब आपकी कार की मरम्मत की जाती है तो, बहुत से कन्ज्यूमेबल पार्ट्स या सामान की ज़रूरत पड़ती है | इनमें बहुत से चीजें शामिल हो सकती है जैसे की नट्स और बोल्ट्स (nuts and bolts), स्नेहक (लुब्रिकेंट्स) (lubricants), ग्रीस और ऑइल (grease and oil), ब्रेक ऑइल (brake oil), इंजन ऑइल (engine oil), पेच (स्क्रू) (screw), गाड़ी की धुलाई (washing), पोलिशिंग (polishing), ऑइल फ़िल्टर (oil filter), बेयरिंग (bearing), इत्यादि | आमतौर पर कॉम्प्रेहेंसिव पॉलिसी प्लान के अंतर्गत इन कन्ज्यूमेबल पार्ट्स को कवर नहीं किया जाता है यानि की कार मालिक को ही इन सभी का खर्चा उठाना होता है | लेकिन अगर बीमाधारक के पास कार बीमा के अंतर्गत कन्ज्यूमेबल कवर भी है तो अलग से भुगतान करने की कोई आवश्यकता नहीं होती है |

कन्ज्यूमेबल कवर एक प्रकार का ऐड-ऑन है जो की कार की मरम्मत के दौरान बीमित कार में इस्तेमाल किए जाने वाले कन्ज्यूमेबल पार्ट्स या वस्तुओं के लिए किए गए खर्चों की प्रतिपूर्ति करता है | यह सभी कन्ज्यूमेबल पार्ट्स के खर्चों को कवरेज प्रदान करता है | लेकिन यह ऐड-ऑन पाँच वर्ष से कम उम्र की वाहनों के लिए नहीं होता है |

 

टायर सुरक्षा कवर ( tyre protection cover in hindi ) - 

Tyre Protection Cover kya hota hai : भारत के लोकल क्षेत्र के सडकों को हम सभी अच्छी तरह से पहचानते हैं | और कार के टायर, कार का वह हिस्सा होता है जो की बहुत ज़्यादा यातना तथा कष्ट झेलते हैं | कार के नियमित उपयोग के कारण, कार के टायर्स को नुकसान पहुँचता है और उनका घिसावट होना तय है | अगर आपके वाहन के टायर्स को किसी दुर्घटना के बगैर नुकसान या क्षति पहुँचती है तो बीमा कंपनी या बीमाकर्ता कार के टायर्स के प्रति किसी भी भुगतान को कवर नहीं करती है | तो, ऐसी परिस्थिति में कार के टायर्स को बदलना या ठीक करने का जिम्मा कार मालिक को उठाना होता है | तो, इसलिए यहाँ पर आता है टायर्स सुरक्षा कवर |

 

टायर्स सुरक्षा कवर एक प्रकार का अतिरिक्त कवर होता है जो की आपके वाहन के टायर्स की सुरक्षा के लिए होता है यानि की अगर कार के टायर्स को किसी भी प्रकार का नुकसान पहुँचता है तो बीमा कंपनी इसके लिए नुकसान के कारण हुए खर्चों की प्रतिपूर्ति करती है | टायर्स को पहुँची हानि जैसे की टायर्स का कट (cut) जाना, टायर्स में उभार आना मतलब की एक तरह से टायर का फूल जाना (bulges in tyres), टायर्स का फट जाना (bursting of tyres), टायर्स में पंचर (puncture), आदि सभी प्रकार की हानियों को टायर सुरक्षा ऐड-ऑन के अंतर्गत कवर किया जाता है |    

 

चाबियाँ का नुकसान या प्रतिस्थापन कवर (keys replacement cover in hindi ) -

Keys Replacement cover kya hota hai : जैसे की इस ऐड-ऑन के नाम से ही आप समझ सकते हैं की यह आपकी कार की चाबियों को पहुंचे किसी प्रकार के नुकसान या प्रतिस्थापन के लिए एक प्रकार का कवर है | आजकल की ज़्यादातर वाहनों की चाबियाँ इलेक्ट्रॉनिक तथा हाई-टेक और एडवांस हो चुकी हैं और यह बहुत ही मूल्यवान भी हैं | जितनी यह मूल्यवान होती है उतनी ही आसानी से गुम (lost) भी हो जाती हैं, और इनको बदलने या नई चाबियाँ का खर्चा महंगा (expensive) हो सकता है

लेकिन, एक आम कार बीमा के अंतर्गत चाबियों के नुकसान या प्रतिस्थापना को कवर नहीं किया जाता है | तो इसलिए, आपको अपनी कार की चाबियों के लिए अलग से अतिरिक्त कवर की आवश्यकता होती है जिसको  चाबियाँ प्रतिस्थापन (keys replacement) ऐड-ऑन कवर कहा जाता है |

इस ऐड-ऑन के अंतर्गत आपकी कार की चाबियों का प्रतिस्थापन तथा किसी अन्य प्रकार के नुकसान के कारण हुए खर्चों को कवर किया जाता है और अगर किसी परिस्थिति में कार की चाबियाँ चोरी हो जाती है, गुम हो जाती है, या फिर डैमेज हो जाती है या अगर कार का लॉक-सेट बदलने नौबत आ जाए तो इन सभी के खर्चों को कीय रिप्लेसमेंट ऐड-ऑन में कवर किया जाता है |

 

 

व्यक्तिगत सामान की हानि ऐड-ऑन कवर ( loss of personal belongings add-on cover in hindi ) -

loss of personal belongings add-on cover kya hota hai :  हर कोई अपनी कार में व्यक्तिगत सामान को साथ रखता है | और यदि कार इन्हीं सामान के साथ चोरी हो जाती है या सिर्फ आपका कार के अन्दर से सामान ही चोरी हो जाता है तो कार बीमा कंपनी आपको किसी भी प्रकार का मुआवजा प्रदान नहीं करती है अगर आपने व्यतिगत सामान के हानि के लिए ऐड-ऑन नहीं खरीदा है |  

व्यक्तिगत सामान की हानि कवर एक प्रकार का ऐड-ऑन है जो की आपको मुआवजा प्रदान करता है अगर आपकी कार के अन्दर रखे किसी भी सामान को नुकसान पहुँचता है या सामान कार के साथ चोरी हो जाता है या सिर्फ सामान ही चोरी कर लिया जाता है | आपका व्यक्तिगत सामान (personal belongings) जैसे की पर्सनल लैपटॉप, स्मार्टफोन (smartphone), पर्स (purse) और अन्य प्रकार का इलेक्ट्रॉनिक उपकरण भी हो सकता है |  

 

 

 

   

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.