What is Third Party Insurance in hindi : थर्ड-पार्टी इंश्योरेंस क्या होता है - Third party insurance Kya hota hai

 थर्ड-पार्टी इंश्योरेंस क्या होता है – What is Third Party Insurance in hindi 

 

What is Third Party Insurance in hindi
What is Third Party Insurance in hindi

आज हम जानने वाले है थर्ड पार्टी इंश्योरेंस क्या होता है ? ( What is Third party insurance in hindi ), कार बीमा में तृतीय पक्ष बीमा क्या होता है ? ( What is third party Car insurance in hindi ), थर्ड-पार्टी कार बीमा में क्या कवर किया जाता है ? ( Third party car insurance me kya cover hota hai ) , थर्ड-पार्टी कार बीमा में क्या कवर नहीं किया जाता है ? ( Third party car insurance me kya cover nahi hota ) और भी कई सारी जानकारियाँ |

  

थर्ड पार्टी इंश्योरेंस क्या होता है ? ( Third party insurance kya hota hai )

थर्ड पार्टी इंश्योरेंस एक प्रकार की मूल (basic) कार बीमा है जो की हर कार मालिक के पास कम से कम होनी ही चाहिए | जैसे ही कोई व्यक्ति कोई नई कार खरीदता है और वह शोरूम से बाहर निकलती है तो कार मालिक को साथ में कम से कम थर्ड पार्टी इंश्योरेंस भी खरीदनी होगी क्योंकि यह मोटर वाहन कानून का एक हिस्सा है, आप इस बात को अनदेखा या नज़रअंदाज़ नहीं कर सकते हैं | क्योंकि मोटर वाहन अधिनियम, 1988, कानून के अंतर्गत यह अनिवार्य है की हर वाहन चालक के पास कम से कम तृतीय-पक्ष देयता बीमा (third-party liability) पॉलिसी होनी  चाहिए | तृतीय-पक्ष बीमा पॉलिसीधारक को बीमित कार की वजह से हुए किसी तृतीय व्यक्ति के नुकसान तथा हर्जाने के विरुद्ध बचाव और सुरक्षा प्रदान करती है | यह बीमा, शारीरिक चोटों, वाहन क्षति, संपत्ति की क्षति, और एक्सीडेंटल मृत्यु के कारण उत्पन्न होने वाली वित्तीय और कानूनी देनदारियों को कवर करता है | 

 

कार बीमा में तृतीय पक्ष बीमा क्या होता है ? ( What is third party Car insurance in hindi )

third party car insurance kya hota hai  :तृतीय पक्ष बीमा समझने से पहले, हम चाहते हैं की आप एक परिस्थिति की कल्पना करें -

उदाहरण के लिए मान लीजिए की एक व्यक्ति है जिसका नाम है राम, वह प्रतिदिन प्रातः सुबह 9 बजे अपनी कार में सवार होकर दफ्तर के लिए काम पर निकल जाता है और कार वह स्वयं ही चलाता है | अब, एक दिन, दुर्भाग्यपुर्व हर रोज की तरफ काम पर जाते हुए राम की कर का किसी अन्य व्यक्ति की कार के साथ ऐक्सिडेंट हो जाता है | दुर्घटना होने के पीछे का कारण राम की गलती थी यानि की राम की गलती की ही वजह से दुर्घटना हुई, लेकिन राम की किस्मत अच्छी थी की ज़्यादा शारीरिक चोटें नहीं आई, हाँ थोड़ी बहुत चोटें ज़रूर आई लेकिन राम और अन्य व्यक्ति की कार ज़्यादा क्षतिग्रस्त हो गई और साथ ही में अन्य व्यक्ति को शारीरिक चोटें भी ज्यादा आई | अब यहाँ पर अन्य व्यक्ति, अपने हानि तथा अपनी कार के हुए नुकसान की भरपाई की मांग करता है और बोलता है की कार को ठीक / सही करने के खर्चे का भुगतान राम को करना होगा, क्योंकि राम की गलती थी | 

 

अब ऊपर दी गई परिस्थिति में राम के पास सिर्फ थर्ड-पार्टी कार इंश्योरेंस है | मान लीजिए अगर यहाँ पर कोई छोटा सा एक्सीडेंट हुआ होता तो, हो सकता है की दोनों पार्टी आपस में मामले को सुलटा लेते और जो भी नुकसान सामने वाले व्यक्ति का हुआ है वह राम भुगतान करदेता | लेकिन हमारे इस उदाहरण में सामने वाले व्यक्ति की गाड़ी में ज़्यादा नुकसान हुआ है तो राम उसको अपनी जेब से अकेले भुगतान नहीं कर पाएगा तो यहाँ पर कार इंश्योरेंस काम आती है | ऊपर दी गई परिस्थिति में, राम को अपनी थर्ड पार्टी कार बीमा के मुताबिक इंश्योरेंस कंपनी से क्लेम करना होगा ताकि वह अन्य व्यक्ति के नुकसान की भरपाई कर सके | क्लेम करने के बाद कार इंश्योरेंस कंपनी अन्य व्यक्ति को मुआवजा प्रदान करती है |

 

ऊपर बताई गई काल्पनिक परिस्थिति में, राम और अन्य व्यक्ति (थर्ड-पार्टी) दोनों का ही नुकसान हुआ लेकिन कार बीमा कंपनी सिर्फ अन्य व्यक्ति के नुकसान का मुआवजा प्रदान करेगी, राम को अपनी कार का और अपनी चोटों (injuries) का सवयं खुदी ही सारा खर्चा संभालना होगा | तो कुछ इसी ही प्रकार थर्ड पार्टी कार इंश्योरेंस काम करती है, जिसमें सिर्फ थर्ड-पार्टी के नुकसानों का ही भुगतान किया जाता है ||

 

तो, तृतीय पक्ष कार बीमा क्या है ?- इस प्रशन का उत्तर है की यह थर्ड पार्टी देनदारियों इंश्योरेंस बीमित व्यक्ति को किसी तीसरे अन्य पक्ष के व्यक्ति, या किसी प्रकार की संपत्ति को पहुंचे नुकसान या हानि की वजह से उत्पन्न होने वाली किसी भी कानूनी देयता के खिलाफ वित्तीय कवर प्रदान करती है | यह एक प्रकार का बेसिक (मूल) (basic) कार इंश्योरेंस कवरेज होता है जो की भारतीय मोटर वाहन अधिनियम के तहत, कम से कम हर कार चालक के पास होना अनिवार्य है | लेकिन अगर आपके पास व्यापक (कॉम्प्रेहेंसिव) (comprehensive) कार बीमा है तो वह और भी अच्छी बात है | थर्ड पार्टी कार इंश्योरेंस के अंतर्गत किसी अन्य व्यक्ति के हुए प्रॉपर्टी (property) नुकसान/क्षति, शारीरिक चोट (physical injury) या मृत्यु का कवरेज प्रदान किया जाता है | यह पॉलिसी फर्स्ट पर्सन (first person) यानि की बीमाधारक के हुए नुकसान या क्षति को कोई कवरेज प्रदान नहीं करती है | लेकिन हाँ, कुछ ऐसी कार बीमा कंपनियां हैं जो की बीमाधारक को पर्सनल एक्सीडेंट कवर (personal accident) प्रदान करती हैं |

 

थर्ड-पार्टी कार बीमा में क्या कवर किया जाता है ? ( Third party car insurance me kya cover hota hai )

Third party car insurance kya cover hota hai : थर्ड-पार्टी कार बीमा किसी अन्य व्यक्ति यानि की (थर्ड पार्टी) की किसी दुर्घटना के कारण हुई क्षति/हानि या मृत्यु के वजह से पैदा होने वाले देनदारियों का कवरेज प्रदान करती है | थर्ड पार्टी पॉलिसी के मुताबिक कार बीमा कंपनी थर्ड पार्टी को मुआवजा प्रदान करती है | निम्नलिखित कवरेज थर्ड-पार्टी के अंतर्गत प्रदान किए जाते हैं -

 

1.तीसरे पक्ष की देनदारियां (थर्ड-पार्टी लाइबिलिटी) -

थर्ड पार्टी के अंतर्गत, किसी दुर्घटना के कारणवश जब किसी बीमाधारक की बीमित कार किसी अन्य व्यक्ति की कार तथा साथ में अन्य व्यक्ति को किसी प्रकार की क्षति या नुकसान पहुँचाती है तो वह तीसरे पक्ष की देनदारियों का परिणाम उत्पन्न करती है | यहाँ पर बीमाधारक की गलती की वजह से किसी अन्य व्यक्ति का नुकसान हुआ है तो उस नुकसान की भरपाई का भुगतान बीमाधारक को इंश्योरेंस पॉलिसी की मदद से जिम्मेदारी के साथ करना होगा | तृतीय पक्ष देनदारियां बीमा में कारण से उत्पन्न होने वाली कानूनी देनदारियां नीचे दी गई चीजें शामिल हैं -

 

      संपत्ति को नुकसान (प्रॉपर्टी डैमेज) -

किसी परिस्थिति में अगर, दुर्भाग्य से बीमाधारक की कार किसी अन्य तीसरे व्यक्ति की संपत्ति का नुकसान कर देती है तो यहाँ पर पॉलिसी के मुताबिक कार इंश्योरेंस कंपनी थर्ड पार्टी के हुए नुकसान का मुआवजा प्रदान करती है | यहाँ पर संपत्ति में बहुत सी चीजें शामिल हो सकती हैं जैसे की थर्ड-पार्टी की कोई घर की दीवार (wall), दरवाज़ा, किसी प्रकार की बाउंड्री (boundary), दुकान (shop), इत्यादि संपत्ति शामिल हो सकती है |

 

      कार को नुकसान (damages to car) -

यदि कार चलाते वक़्त बीमाधारक की कार किसी अन्य व्यक्ति की कार को टक्कर मार देती है और उस टकराव के कारण अन्य व्यक्ति की क्षतिग्रस्त हुई कार के नुकसान को को थर्ड पार्टी पॉलिसी के अंतर्गत कवर किया जाता है | ऐसी परिस्थिति में थर्ड-पार्टी बीमाधारक के लिए बचाव का कार्य करती है और बीमाधारक की ओर से कार बीमा कंपनी तृतीय पक्ष को मुआवजा प्रदान करती है | 

 

      आकस्मिक शारीरिक चोटें (accidental bodily injuries) -

दुर्घटना के कारण थर्ड पार्टी को पहुँचीं शारीरिक चोटों को इस इंश्योरेंस में कवर किया जाता है | और एक्सीडेंट के कारण पीड़ित के विकलांग होने की स्थिति में पीड़ित को कितना मुआवजा प्रदान किया जाएगा  यह मोटर दुर्घटना दावा न्यायाधिकरण (motor accident claims tribunal) के द्वारा तय किया जाता है | 

 

      आकस्मिक मृत्यु (accidental death) -

यदि दुर्घटना के कारण थर्ड-पार्टी की मृत्यु हो जाती है तो कार बीमा कंपनी बीमाधारक की ओर से थर्ड-पार्टी को मुआवजा प्रदान करती है |

 

 

2.  व्यक्तिगत दुर्घटना कवर (पर्सनल एक्सीडेंट कवर) (personal accident cover) -

कुछ ऐसी मोटर वाहन बीमा कंपनियां हैं जो की थर्ड-पार्टी कार इंश्योरेंस के अंतर्गत व्यक्तिगत दुर्घटना कवर को भी प्रदान करती है | यदि किसी दुर्घटना में बीमाधारक को किसी प्रकार शारीरिक चोटें आती हैं या दुर्घटना के कारण व्यक्ति विकलांगता का शिकार हो जाता है या बीमाधारक की मृत्यु हो जाती है आदि चीजों को थर्ड-पार्टी पर्सनल एक्सीडेंट में कवरेज प्रदान की जाती है और बीमा कंपनी द्वारा आपको मुआवजा प्रदान किया जाता है |

 

थर्ड-पार्टी कार बीमा में क्या कवर नहीं किया जाता है ? ( Third party car insurance me kya cover nahi hota )

नीचे दी गई कुछ तथ्य हैं जो की थर्ड-पार्टी कार बीमा के अंतर्गत कवर नहीं किए जाते हैं -

       ऑन डैमेज कवर (own damage cover)

       नशे में गाड़ी चलाना - यानि की यदि आप किसी भी प्रकार के नशीले प्रदार्थ का सेवन करते हुए और नशे की हालत में गाड़ी चलाते हुए, आपकी कार से किसी अन्य व्यक्ति की कार तथा अन्य व्यक्ति को किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो वह इस परिस्थिति में कवर नहीं किया जाएगा |

       अवैध लाइसेंस- अवैध लाइसेंस होने जैसे स्थिति में भी किसी दुर्घटना के कारण हुए थर्ड-पार्टी के नुकसानों को आपके ओर से बीमा कंपनी द्वारा किसी भी प्रकार का मुआवजा प्रदान नहीं किया जाएगा |

       युद्ध (world war) जैसी स्थिति में थर्ड पार्टी के हुए नुकसान को कवर नहीं किया जाएगा |

       परमाणु बम हमले (nuclear attack) में भी थर्ड पार्टी कार इंश्योरेंस को कवर नहीं किया जाता है |  

 

 

 

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.